बी.ई.ओ.एवं प्राचार्य ने ‘शिक्षा- एक्स्प्रेस’ को दी हरी झंडी

Estimated read time 1 min read
Spread the love

शिक्षा की अलख जगान ‘एजुकेशन- एक्स्प्रेस का शुभारंभ

गाडरवारा। गत दिवस की शाम को विद्यार्थियों में शिक्षा के प्रति अलख जगाने , उपस्थिति में वृद्धि, पढ़ाई में आ रही कठिनाइयों के समाधान एवं शिक्षा में जागरुकता लाने के उद्देश्य से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बनवारी के प्राचार्य आनंद चौकसे के मार्गदर्शन में इन्हीं की शाला में पदस्थ राज्य स्तरीय सम्मान प्राप्त माध्यमिक शिक्षक हल्केवीर पटेल द्वारा ” एजुकेशन एक्स्प्रेस ” की पहल की गई जिसका शुभारंभ बी.ई.ओ विकास खंड साईंखेड़ा प्रताप नारायण एवं प्राचार्य आनन्द चौकसे ने हरी झंडी दिखाते हुए किया। इस अवसर पर उन्होंने शुभकामनायें प्रदान कीं एवं दोनों अधिकारियों ने शिक्षा क्षेत्र में इस नवाचार को छात्र हित में सर्वाधिक प्रभावी बताया।इस अवसर पर प्राचार्य सतीश नाईक, लिपिक अमित पटेल, माध्यमिक शिक्षक मधुसूदन पटेल एवं लालजी प्रसाद कपाड़िया उपस्थित रहे। विदित हो कि शिक्षक हल्के वीर ने एजुकेशन -एक्सप्रेस संचालन के लिए साईकिल वाहन को चुनाहै। फेरी वालों की तर्ज़ पर शिक्षक साईकिल में बंधे हुए ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से शिक्षा -अलख गीत एवं विभिन्न संदेशों को देकर साईकिल से गाँव- गाँव भ्रमण कर,छात्र- छात्राओं एवं उदासीन पालकों के मध्य जागरूकता उत्पन्न करेंगे साथ ही गाँवों के बच्चों की पढ़ाई संबंधी कठिनाई का भी त्वरित निराकरण करेंगे ।शिक्षक ने इस नवाचार के लिए प्रतिदिन सूर्योदय पूर्व का प्रातः कालीन दो घंटे और सायंकालीन दो घंटे के समय को तय किया है। शिक्षक की इस अनोखी पहल का क्षेत्रीय जनता एवं पालक स्वागत योग्य बता रहे हैं।इस मुहिम से बच्चों में भी काफी उत्साह देखने मिल रहा है।
श्री पटेल ने बताया कि भ्रमण के दौरान सुनाये जाने वाला शिक्षा प्रेरणा गीत इनके ही साथी शिक्षक लालजी प्रसाद अहिरवार ने तैयार कर शिक्षक आशीष शर्मा के सहयोग से अपना स्वर दिया है। शिक्षा अलख संदेश में पढ़ाई के साथ-साथ वृक्षारोपण,स्वच्छता, पालीथीन की जगह थैले के प्रयोग एवं तम्बाकू, गुटखा के दुष्परिणाम एवं इसके विक्रय पर रोक आदि को प्राथमिकता दी गई है। इस कार्य में शिक्षक द्वारा विभिन्न गाँवों के सरपंचों , ग्राम प्रधानों एवं शिक्षा समिति अध्यक्षों की भी मदद लेकर उनकी सहभागिता ली जायेगी। उल्लेखनीय है कि शिक्षक श्री पटेल पूर्व में भी तत्कालीन कलेक्टर रोहित सिंह की प्रेरणा से ‘कोरोना काल’ में शिथिल पड़ी शिक्षा व्यवस्था में चेतना लाने के उद्देश्य से सम्पूर्ण जिले में शिक्षा चेतना यात्रा निकालने में सफलता प्राप्त कर सम्मान प्राप्त कर चुके हैं। गौरतलब है कि शाला सिद्धी ” हमारी शाला ऐसी हो” पर आधारित अपनी मूल पदस्थ प्राथमिक शाला तूमड़ा को राज्य स्तर पर माडल रूप में प्रस्तुत कर नवाचारी शिक्षक पटेल जिले का गौरव का बढ़ाते आये हैं और अनेक बार राज्य स्तर पर सैमीनार में जिले का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। शिक्षा गुणवत्ता और नवाचारों पर प्राप्त राज्यपाल पुरस्कार के फलस्वरूप वर्तमान में, शिक्षक हल्केवीर शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बनवारी में माध्यमिक शिक्षक के रूप में पदोन्नत हुए हैं। यहाँ पदोन्नति के बाद उनका विद्यार्थी हित में “एजुकेशन -एक्सप्रेस पहला और अनूठा नवाचार है। उनके नवाचार की सराहना करते हुए बीएससी पवन राजोरिया ने इसे जमीनी स्तर से जुड़ी,शिक्षा की इस अलख ज्योति को बोर्ड-परीक्षाओं के मद्देनजर ‘मील का पत्थर’ एवं प्रभावी बताया।

Post Visitors:219

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours