शासकीय अधिकारियों के संरक्षण में फलता फूलता अतिक्रमण

Estimated read time 1 min read
Spread the love

तहसील साईं खेड़ा के राजस्व अधिकारियों के संरक्षण में खेल मैदान,तालाब, उद्यान सहित नाले की भूमि पर अतिक्रमण फल फूल रहा है ।
अतिक्रमण कारियों को पंचायत जनप्रतिनिधियों का भी संरक्षण प्राप्त है ।
विकासखंड साईं खेड़ा की ग्राम पंचायत अजंता के खैरी ग्राम में पूर्व के कार्यकाल के वर्ष 2016-17 में लगभग 3 लाख 51024 रुपए की लागत से खेल मैदान का समतलीकरण किया गया था,वहीं वर्ष 2017-18 में लगभग 5 लाख 80 हजार 409 रूपए की राशि से तालाब निर्माण कार्य किया गया, एवं लगभग 116570 रुपए की राशि से वृक्षारोपण कराया गया था । पिछली पंचवर्षीय में पंचायत और ग्रामीणों द्वारा इस शासकीय भूमि खेल मैदान को उपयोग किया जाता रहा है । इसमें नवयुवकों द्वारा विभिन्न टूर्नामेंट एवं खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन भी कराया था, परंतु नवनिर्मित महिला सरपंच के पदभार ग्रहण करने के बाद से इन सभी स्थानों पर जैसे ग्रहण लग गया है । जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों के संरक्षण से अब इस शासकीय भूमि पर कृषि कार्य किया जा रहा है ।
ग्राम खेड़ी के सामाजिक कार्यकर्ता एवं नवयुवकों के द्वारा पिछले दो वर्षों से खेल मैदान तथा उद्यान एवं तालाब की भूमि से अतिक्रमण मुक्त कराने हेतु सरपंच, सचिव ,पटवारी, तहसीलदार ,अनुविभागीय अधिकारी राजस्व गाडरवारा, एवं जिला कलेक्टर नरसिंहपुर को तथा मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर 181 पर कम्प्लएंड नंबर 25090132 के माध्यम से कंप्लेंट भी रजिस्टर्ड की गई है जो वर्तमान में L 4 पर रजिस्टर्ड है परंतु लगातार पत्रों के माध्यम से एवं हेल्पलाइन के माध्यम से खेल मैदान पर हुए अतिक्रमण की सूचना दी जाती रही है । परंतु इतने आवेदन देने के बाद भी उक्त शासकीय भूमि पर फसलों का लहलहाना यह दर्शाता है कि इसमें प्रशासनिक अधिकारियों एवं ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधियों का अतिक्रमण कारियो को खुला संरक्षण प्राप्त है ।

Post Visitors:286

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours