अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा से कुछ खास बातचीत

Estimated read time 1 min read
Spread the love

Sidharth Malhotra: साल 2023 को लेकर उत्साहित, अभिनेता सिद्धार्थ मल्होत्रा कहते हैं, “इस साल मेरी फिल्में मिशन मजनू और योद्धा आ रही है, रोहित शेट्टी के शो इंडियन पुलिस फोर्स की मैं शूटिंग कर रहा हूं। ये साल मेरे लिए व्यस्ताओं भरा है और इसे लेकर खुश हूं।” शांतनु बागची के निर्देशन में बनी फिल्म मिशन मजनू में सिद्धार्थ मल्होत्रा और रश्मिका मंदाना मुख्य किरदारों में दिखेंगे। फिल्म 20 जनवरी से नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध हो जाएगी। इस फिल्म में सिद्धार्थ एक एजेंट का किरदार निभा रहे हैं, जो एक मिशन को पूरा करने के लिए पाकिस्तान में रह रहा है। फिल्म में देशभक्ति के साथ साथ एक्शन का तड़का है। मिशन मजनू की रिलीज से पहले, सिद्धार्थ मल्होत्रा ने फिल्मीबीट के साथ बातचीत की है, जहां एक्टर ने आने वाली फिल्मों के अलावा रश्मिका मंदाना के साथ काम करने के अनुभव और एक्शन फिल्मों को लेकर अपने आकर्षण पर भी खुलकर बातें की हैं। साथ ही सिद्धार्थ ने रोहित शेट्टी की इंडियन पुलिस फोर्स का हिस्सा बनने को लेकर भी खुशी जताई।

Some Questions

Q. मिशन मजनू में अपने किरदार के बारे में कुछ बताएं? किस बात ने आकर्षित किया?
A. मेरे लिए सबसे खास बात थी कि इस किरदार में बहुत सारे लेयर हैं इसीलिए कैरेक्टर बिल्डिंग में काफी मेहनत और समय गया। इस किरदार को रियलिस्टिक तरीके से निभाना अहम था। यहां मैं ओवर द टॉप नहीं जा सकता था। वहीं, 1970 के जमाने के टेलर का लुक अपनाने में भी काफी काम किया गया है।

Q. रश्मिका मंदाना के साथ काम करने का कैसा अनुभव रहा?
A. ये रश्मिका की पहली हिंदी फिल्म है, जिसकी उन्होंने शूटिंग की थी। उनमें सबसे अच्छी बात है कि किसी पूर्वाग्रह के साथ नहीं आई थीं। वो सेट पर बिल्कुल खुले दिमाग के साथ आई थीं कि क्या करना है, कैसे करना है। वो सेट पर बहुत सहज थीं और ये बहुत अच्छी बात है। हमने काफी रीडिंग्स की सेट पर, काफी रिहर्सल किये.. और सीन्स को बहुत सिंपल रखने की कोशिश की क्योंकि इस कहानी में बहुत मासूम सी लव स्टोरी है। उम्मीद है लोगों को हमारा काम पसंद आए।

Q. शूटिंग के समय 70 के दशक की किन बातों ने प्रभावित किया?
A.मुझे लगता है कि उस जमाने में लोगों के पास जानकारी का थोड़ा अभाव था, लेकिन उनमें एक तरह की मासूमियत थी। वो सीधे थे। आजकल हमारे पास इतनी ज्यादा इंफॉमेशन होती है कि हर कोई चालाक और चतुर होता जा रहा है। 1970 के समय में कंम्यूनिकेशन का तरीका भी काफी अलग था। आपको अपनी बात पहुंचाने के लिए व्यक्तिगत तौर पर लोगों से मिलना पड़ता था। आपके पास हर वक्त फोन या मोबाइल नहीं था। आप ज्यादा सोशल होते थे। वहीं मुझे 70 के दशक की स्टाइलिंग काफी पसंद है। इस फिल्म के जरीए मुझे उस वक्त को जितना भी जीने का मौका मिला, वो मुझे काफी दिलचस्प लगा।

Q. ट्रेलर में आप जबरदस्त एक्शन करते दिखाई दे रहे हैं। मिशन मजनू के बाद योद्धा और इंडियन फोर्स में भी आप एक्शन जॉनर नजर आएंगे। इस शैली को कितना एन्जॉय करते हैं?
A. एक विलेन के समय से ही जब डायरेक्टर्स को दिखा कि मैं स्ट्रॉग कैरेक्टर निभा सकता हूं, तो वहां से मेरी एक्शन फिल्मों का दौर शुरु हुआ है। लेकिन ये इत्तेफाक की बात है कि बैक टू बैक ये सारी फिल्में आ रही हैं। शेरशाह को मैंने 5 साल पहले साइन की थी, लेकिन वो 2021 में आई। वहीं, मिशन मजनू, योद्धा और इंडियन पुलिस फोर्स ये सब मेरे हालिया के प्रोजेक्ट्स हैं जो रिलीज होने को तैयार हैं। शायद राइटर्स- डायरेक्टर्स मुझे अब उस नजर से देखते हैं। लेकिन अच्छी बात है कि इन सभी की दुनिया एक दूसरे से बिल्कुल अलग है। जैसे मिशन मजनू शेरशाह से काफी अलग है। लेकिन हां, मैं रियल लाइफ कैरेक्टर्स और हीरोज की तरफ बहुत आकर्षित होता हूं। आप जब पर्दे पर देखकर सोचते हैं कि ये असल में हुआ है, तो वो एक्साइटमेंट का अलग स्तर होता है। वहीं, इंडियन पुलिस फोर्स रोहित शेट्टी का शो है.. तो उसे करने के पीछे की सबसे बड़ी वजह रोहित सर ही थे। उनके साथ आप कॉप यूनिफॉर्म पहनकर एक अलग ही यूनिवर्स में पहुंच जाते हो। हम फिलहाल हैदराबाद में इसकी शूटिंग कर रहे थे। वहीं, योद्धा एक फिक्शनल कहानी है, जहां मुझे बहुत एक्शन करने का मौका मिला है। तो हां, फिलहाल मैं खुश हूं कि एक्शन ज़ोन में मुझे इतना कुछ करने का मौका मिल रहा है।

Q. रोहित शेट्टी के कॉप यूनिवर्स का हिस्सा बनना कितना एक्साइटिंग रहा?
A. इंडियन पुलिस फोर्स एक कॉप यूनिवर्स हैं जो लंबे फॉर्मेस पर आने वाला है। जहां पर हम कोशिश कर रहे हैं कि एक रियल लेकिन कमर्शियल तरीके से , रोहित शेट्टी के अंदाज में हम एक कहानी दिखाएं। ये एक चोर- पुलिस की कहानी है। और हमने इसकी काफी शूटिंग खत्म कर ली है। कुछ महीने की शूटिंग अभी और बाकी है। मुझे लगता है कि रोहित शेट्टी से बेहतर हीरोज को प्रेसेंट करना बहुत कम डायरेक्टर को आता है.. जिस तरह एक सिंपल से शॉट में भी वो हीरोज्म ला देते हैं, वो हमारी ऑडियंस को पसंद भी आता है। उनका बैकग्राउंड स्कोर, एक्शन करने का तरीका, सब काफी अलग है। हालांकि, इसमें हमने काफी रॉ एक्शन भी किया है। हैंड टू हैंड एक्शन ज्यादा हैं और स्टंट कम। उम्मीद है अगले साल ये भी रिलीज हो जाएगी।

Q. आप महसूस करते हैं कि शेहशाह के बाद, निर्माता- निर्देशकों के बीच आपको लेकर राय में बदलाव आया है?
A. बिल्कुल, शेरशाह के बाद से बदलाव आया है और मुझे इस बात की खुशी है। जब एक पॉजिटिव तरीके से लोग आपको देखते हैं, जब लोगों को आपका काम पसंद आता है, फिल्म पसंद आती है तो अच्छा महसूस होता है। मेरा मानना है कि अच्छा काम ही आपको आगे अच्छा काम देता है। आज के समय में कहानियां सबसे ऊपर होती हैं, उसके बाद बाकी सब। इसीलिए मैं भी थोड़ा ज्यादा सिलेक्टिव हो गया हूं।

Q. शेरशाह को इतनी तारीफ मिली, मिशन मजनू को लेकर रिस्पॉस अच्छा रहा। ऐसे में बॉक्स ऑफिस नंबर्स को मिस करते हैं?
A. मैं सोचता हूं कि कंटेंट अच्छी हो तो उसे कहीं भी प्यार मिलेगा, पहचान मिलेगी। हर एक्टर यही चाहता है कि उनकी फिल्म ज्यादा से ज्यादा लोग देंखे। उनका काम लोग बिना किसी प्रेशर के देंखे। इसीलिए उस लिहाज से बॉक्स ऑफिस को मिस नहीं करता हूं। मुझे लगता है कि इस प्लेटफॉर्म पर लोगों को बांधे रखने के लिए और भी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है क्योंकि आपके हाथ में ही रिमोट है। सच कहूं तो ओटीटी ज्यादा चैलेजिंग है।

Post Visitors:302

You May Also Like

+ There are no comments

Add yours